मानव तस्करी से बचाई गई बच्चियों को स्वरोजगार से जोड़ें- रघुवर दास

 

मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने मंगलवार को झारखण्ड मंत्रालय में प्रेझा फाउंडेशन के अंतर्गत योजनाओं की समीक्षा की। इस दौरान मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि ट्रैफिकिंग से बचाई गई बच्चियों को प्रशिक्षित कर स्वरोजगार से जोड़ें, ताकि उन्हें रोजगार के लिए कहीं भटकना न पड़े। राज्य के पिछड़े जिलों में प्रशिक्षण पर विशेष फोकस करें, वहां की महिलाओं व युवाओं को प्रशिक्षण दें। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रशिक्षित युवाओं को विदेश में प्लेसमेंट के लिए सरकार द्वारा नामित संस्था के माध्यम से ही भेजा जाये, इससे वे ठगी का शिकार होने से बचेंगे।

बैठक में कल्याण सचिव श्रीमती हिमानी पांडेय ने बताया कि अभी राज्य में 21 कल्याण गुरुकुल संचालित हो रहे हैं। इनमें 12 अनुसूचित जिलों में और नौ दूसरे जिलों में हैं। इसके साथ ही 10 और गुरुकुल खोले जाने हैं। इनमें अब तक 1913 युवाओं को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। 1166 युवाओं को प्रशिक्षित किया जा चुका है, इनमें 964 युवाओं का प्लेसमेंट हो चुका है। अभी कल्याण गुरुकुल की सालाना क्षमता 7500-10000 छात्रों की है। राज्य में अभी चान्हो में नर्सिंग कॉलेज कार्यरत है। नौ और कौशल कॉलेज इसी वर्ष शुरू किये जा रहे हैं।

बैठक में स्वास्थ्य मंत्री श्री रामचंद्र चंद्रवंशी, मुख्य सचिव श्री सुधीर त्रिपाठी, विकास आयुक्त डॉ डी.के. तिवारी, नगर विकास सचिव श्री अजय कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री सुनील कुमार वर्णवाल, कल्याण सचिव श्रीमती हिमानी पांडेय समेत स्वास्थ्य विभाग के वरीय अधिकारी उपस्थित थे।