जनसंवाद में बोले सीएम, जनता की समस्याओं को गंभीरता लें अधिकारी

 

माननीय मुख्यमंत्री रघुवर दास ने मंगलवार को जनसंवाद कार्यक्रम के जरिए सूचना भवन में लोगों की शिकायतें सुनीं। उन्होंने इसका निपटारा करने का आदेश तुरंत अधिकारियों को दिया। वहीं, जनसंवाद के माध्यम से मिली शि‍कायतों के निपटारे पर खुशी जाहिर करते हुए मुख्यमंत्री ने धनबाद के जिला और पुलिस प्रशासन को प्रधानमंत्री जी के दौरे पर अच्छा काम करने के लिए बधाई दी।

जनसंवाद के दौरान शि‍कायत मिली कि सिमडेगा के सलगापोस्ट उप स्वास्थ्य केंद्र में पिछले 2 साल से चिकित्सक नहीं हैं? इस पर माननीय मुख्यमंत्री ने आदेश दिया कि सिमडेगा के सिविल सर्जन हर रोज इलाके के अस्पतालों का दौरा करें। सिविल सर्जन हर स्वास्थ्य केंद्र में जाकर खुद निरीक्षण करें और इसकी रिपोर्ट उपायुक्त को दें। पिछड़े क्षेत्रों का धयान नहीं रखा जाएगा तो वो इलाके पिछड़े ही रहेंगे।

शि‍कायत- देवघर के बल्थर गांव से शि‍कायत मिली कि यहां सभी राशन कार्डधारियों को 2016 में गांव से 3 किमी दूर राशन डीलर के जनवितरण प्रणाली दुकान से जोड़ दिया गया। ऐसे में लाभुकों को नदी एवं जंगल पार करके राशन लेने जाना पड़ता हैजबकि उनके गांव में ही एक डीलर मौजूद है। जिला आपूर्ति पदाधिकारीदेवघर से शिकायत करने पर भी कोई कार्रवाई नहीं की गई?

इस मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रशासन आरोपी डीलर की दुकान बंद करवाए। जनवितरण प्रणाली के मामले में हमारी जनता को कोई परेशानी नहीं आनी चाहिए।

 

शि‍कायत- रामगढ़ के बरियातु गांव में जलमीनार का मोटर 1 साल से खराब है,जिससे पेयजल की आपूर्ति बंद है?

इस शि‍कायत पर मुख्यमंत्री ने अधि‍कारियों को आदेश दिया कि प्रशासन 2 दिन के अंदर खराब मोटर को सही करवाए। पानी की समस्या किसी को नहीं आनी चाहिए।

शि‍कायत- दोलगसेरागुमला के राजकीय उत्क्रमित मध्य विद्यालय परिसर में 1चापाकल हैलेकिन पानी का स्तर नीचे जाने की वजह से बच्चों को पेयजल नहीं मिल पा रहा है। शिकायत 4 महीने से लंबित है?

 इस पर मुख्यमंत्री ने संबंधि‍त अधि‍कारियों से पूछा कि प्रशासन ने चापाकल की समस्या पर ध्यान क्यों नहीं दिया। शिक्षा विभाग के अधिकारी सभी स्कूल में जाकर पानी की समस्या का समाधान करें। जिला शिक्षा अधिकारी सभी स्कूल और फील्ड में घूमें और पानी की समस्या कहां-कहां है, इसका पता करें और निवारण करें। ऐसी परेशानियों की वजह से ही हमारे बच्चे ड्रॉपआउट होते हैं। ये शासन की ज़िम्मेदारी है, उसका वहन करें।

 

शि‍कायत- देवघर के केनमनकाठी गांव के बाबूटोला में सांसद कोटा से 15 लाख की लागत से विवाह भवन का निर्माण 3 साल पहले शुरू किया गया थालेकिन भवन का निर्माण कार्य अबतक पूरा नहीं किया गया?

 इस पर मुख्यमंत्री ने अधि‍कारियों को आदेश दिया कि मामले की जांच जल्द से जल्द करवाएं और इसके तह तक पहुंचें।

शिकायत- गिरिडीह के गोदोडीह के मन्गो नदी पर 4 साल पहले पुल टूट गया था। ग्रामीणों को आवागमन में काफी परेशानी हो रही है?

मुख्यमंत्री ने अधि‍कारियों से पूछते हुए कहा कि जब सभी जिले के DC के पास अनटाइड फंड हैं तो ऐसे कार्यों को पूरा क्यों नहीं किया जाता? 3-4 साल में नया पुल क्यों नहीं बना? अनटाइड फंड से इस पुल का निर्माण जल्द से जल्द करवाएं।

 

शिकायत- चतरा की दिव्यांग राखी कुमारी को मुख्यमंत्री द्वारा उपायुक्तचतरा को 1 लाख रुपए की नकद राशि तथा रोजगार उपलब्ध कराने का आदेश दिया गया था। जिला प्रशासन ने राखी को मनरेगा के तहत नियमानुसार सखी मेट के चयन कर रोजगार उपलब्ध करवायालेकिन 1 लाख का भुगतान नहीं किया। 9 माह से मामला लंबित है?

मुख्यमंत्री ने आदेश दिया कि जल्द से जल्द राखी को 1 लाख का भुगतान करें और राखी की हर संभव मदद करें।

शिकायत- 1 साल पहले सुशांतकुजुरअख्तर अंसारीआदित टोपनोविजय टोप्पे तथा अन्य 16-17 लोगों ने सेवानिवृत डीआईजी बिगलाल उरांव के मकान निर्माण में काम किया था। इनकी मजदूरी के कुल 2 लाख 58 हजार 170 रुपए का भुगतान नहीं किया गया। पैसे मांगने पर मारने की धमकी दी गई।

मुख्यमंत्री ने इस मामले में आदेश दिया कि लेबर डिपार्टमेंट कल ही केस दर्ज करें। किसी भी कीमत में गरीब का हक नहीं मारा जाएगा। जल्द से जल्द इन लोगों का पूरा भुगतान किया जाए।

 

शिकायत-  लातेहार के जयंत कुमार (उम्र 19 साल) की कमारू गांव में उग्रवादी संगठन जेजेएमपी ने अपहरण कर लिया था। आजतक जयंत का पता नहीं चला है?

मुख्यमंत्री ने आदेश दिया कि पीड़ित परिवार को 1 लाख रुपए की सहायता राशि दी जाए।