झारखण्ड को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी 27 हजार करोड़ की विकास परियोजनाओं की सौगात

 

माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को धनबाद के सिंदरी स्थि‍त बलियापुर में कई विकास परियोजनाओं का ऑनलाइन शि‍लान्यास किया। इसमें देवघर में 1103 करोड़ की लागत से एम्स, देवघर में 441 करोड़ रुपये की लागत से एयरपोर्ट,  सिंदरी में 7 हजार करोड़ रुपये की लागत से कारखाना के जीर्णोद्धार कार्य, 18668 करोड़ की लागत से पतरातू में प्रथम चरण में निर्मित होने वाले 2400 MW सुपर थर्मल पावर प्लांट का शि‍लान्यास शामिल हैं। इसके अलावा प्रधानमंत्री के समक्ष जन औषधि केंद्र की स्थापना हेतु स्वास्थ्य सचिव और CEO BBPI ने MoU का आदान-प्रदान किया। वहीं, प्रधानमंत्री ने CCL की विभिन्न परियोजनाओं में प्रभावित लोगों के बीच सांकेतिक तौर पर 5 लाभार्थियों को नियुक्ति पत्र सौंपा।

माननीय प्रधानमंत्री ने कहा कि ये त्याग और बलि‍दान की धरती है। मैं भगवान बिरसा मुंडा के बलिदान, जयपाल सिंह के संघर्ष और अटल बिहारी वाजपेयी जी के सपनों के इस झारखण्ड की धरा को नमन करता हूं। झारखण्ड के खनिज और कोयला देश को ऊर्जा प्रदान करने का कार्य कर रही है, जिस गर्मजोशी से आपने मेरा स्वागत किया, आपके उस प्यार, आशीर्वाद का आभारी हूं। झारखण्ड के विकास के लिए केंद्र व राज्य सरकार दोनों प्रयासरत है। किसी भी राज्य का विकास तभी पूरी तरह सुनिश्चित हो सकता है, जब केंद्र व राज्य में एक ही पार्टी की सरकार हो। झारखण्ड की जनता ने अपने राज्य के विकास के लिए दोनों जगह पर जिम्मेदारी सौंपी। हमें कार्य करने का मौका प्रदान किया। हमने भी समन्वय स्थापित कर लक्ष्य तय किया और परिणाम आपके सामने है। इसकी अनुभूति आप सभी कर रहे होंगे। हमारा इरादा सही है या नहीं। इसका मापदंड लोकतंत्र में एक है और वह है जन समर्थन। 

“2014 में जब मैं यहां आया था उस समय मैंने कहा था कि जो प्यार आप मुझे दे रहे हैं उसे मैं विकास कर वापस करूंगा। हमारी सरकार युवा, महिला, गरीब, किसान, शोषित, वंचित और समाज के अंतिम छोर पर खड़ी लोगों के लिए काम कर रही है। 27 हजार करोड़ से ज्यादा के 5 प्रोजेक्ट का शिलान्यास हो रहा है। इन परियोजनाओं के बलबूते, अपने सामर्थ्य के बलबूते झारखण्ड देश के अन्य राज्यों की तुलना में आगे निकल जाएगा। सिंदरी में खाद कारखाना, पतरातू में पावर प्लांट, बाबा नगरी देवघर में एयरपोर्ट और एम्स तथा रांची में पाइपलाइन के जरिए गैस पहुंचाने की योजना धरातल पर उतरेगी।”

 
प्रधानमंत्री ने कहा कि वह दिन दूर नहीं, जब यहां का पावर प्रोजेक्ट यहीं के कोयले से राज्य रोशन होगा। राज्य की आर्थिक प्रगति होगी और युवाओं को रोजगार मिलेगा। सिंदरी स्थित कारखाना 16 वर्षों से बंद पड़ा था। अब कारखाना प्रारंभ होने से और निम कोटेड यूरिया खाद का उत्पादन होने से देश में दूसरी कृषि क्रांति का वाहक बनेगा। पूर्व में यूरिया चोरी होकर रसायनिक कारखानों में चला जाता था, लेकिन अब नीम कोटेड यूरिया की वजह से इसका उपयोग कारखानों में नहीं हो सकेगा। इसका सीधा लाभ देश के किसानों को मिलेगा। गैस पाइपलाइन परियोजना देश के 70 जिलों में आच्छादित होगी। रांची को गैस पाइपलाइन के जरिए इंधन पहुंचाने की योजना का शिलान्यास हुआ। 21वीं सदी का इंफ्रास्ट्रक्चर कैसा हो। इस पर कार्य हो रहा है। पानी का प्रबंध, बिजली का ग्रिड हर प्रकार के आधुनिक सुविधा उपलब्ध कराना हमारा लक्ष्य है। श्री मोदी ने कहा कि उज्ज्वला योजना देश की महिलाओं को धुआं रहित रसोईघर प्रदान करने का माध्यम बना। हम काफी हद तक इस कार्य में सफल हुए। सोलर एनर्जी चलने वाले चूल्हे पर शोध कार्य हो रहा है।
 

“झारखण्ड की जनता काले हीरे पर बैठी है। भले ही कोयले का रंग काला हो, लेकिन यह पूरे देश में उजाला और ऊर्जा प्रदान करने की ताकत रखता है।” 

श्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आजादी के बाद देश के 18 हजार सुदूरवर्ती और दुर्गम गांव के लोगों ने बिजली की रोशनी नहीं देखी थी। इस ओर किसी ने ध्यान नहीं दिया, लेकिन सत्ता संभालने के बाद से ही इन गांवों में बिजली पहुंचाने का लक्ष्य हमने तय किया और आपको यह जानकर खुशी होगी कि हमने अपने उस लक्ष्य को प्राप्त कर लिया है। अभी भी देश के चार करोड़ घर ऐसे हैं जिसे बिजली से आच्छादित करना है। झारखण्ड में ऐसे गांव की संख्या करीब 32 लाख है। जल्द राज्य सरकार इन घरों को रौशन करेगी। श्री मोदी ने कहा कि 2022 तक हर गरीब को घर देने का सपना पूरा होगा। जहां शौचालय हो, शुद्ध पेयजल हो, बिजली हो और उनके बच्चों को शिक्षा प्रदान करने के लिए गुणवत्ता युक्त स्कूल हो। हम भ्रष्टाचार, बेईमानी के खिलाफ लड़ने वालों में से हैं। हम सबका साथ सबका विकास के सिद्धांत पर कार्य करते हैं। आप विकास में कैसे भागीदारी निभाएंगे, यह आपको तय करना है। 

वहीं, माननीय मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने कहा कि भारत का गौरव युवा, किसान, गरीब, महिला सशक्तिकरण हित के समग्र विकास हेतु प्रयासरत प्रधानमंत्री जी का झारखण्ड में अभिनंदन है।  हमारे लिए और राज्य के लिए यह गौरव का क्षण है। सुशासन और विकास के 4 साल पूरे होने के अवसर पर प्रधानमंत्री जी द्वारा झारखण्ड को 27 हजार करोड़ से ज्यादा की विकास योजना की सौगात देने के लिए धन्यवाद देता हूं। श्री दास ने कहा कि आजादी के बाद से लाल किला से अब तक देश की किसी प्रधानमंत्री ने झारखण्ड के वीर सपूत भगवान बिरसा मुंडा को नमन नहीं किया था, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी जी ने लाल किले से उनका नाम लेकर झारखण्ड को गर्व की अनभूति कराई। 

“प्रधानमंत्री लगातार देश की प्रतिष्ठा को बढ़ाने में योगदान दे रहे हैं। अब भारत की ओर नजर उठा कर देखने वालों को करारा जवाब दिया जाता है। सरकार की नीतियों का ही प्रतिफल है कि हम आर्थिक पावर बन रहे हैं। केंद्र सरकार ने देश के लोगों को सम्मान के साथ जीवन देने का लक्ष्य निर्धारित किया है।”

मुख्यमंत्री ने कहा कि मोदी सरकार से पूर्व 2013-14 में झारखण्ड को 4 हजार 64 करोड़ रुपए का अनुदान मिला था, लेकिन अब उस अनुदान के प्रतिशत में 82% की वृद्धि हुई है। 2017-18 में केंद्र सरकार द्वारा 13,400 करोड़ की राशि दी गई। 16 साल से सिंदरी का खाद कारखाना बंद पड़ा था। अब उस स्थिति में बदलाव आएगा। प्रधानमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ झारखण्ड के 68 लाख परिवारों में से 57 लाख परिवारों को मिलेगा। केंद्र सरकार के कार्यों का प्रतिफल है कि 4 साल में राज्य में 3 मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास किया, जबकि‍ दो पर काम चल रहा है। केंद्र सरकार ने गुणवत्ता पूर्ण उच्च व तकनीकी शिक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से 4 साल के कार्यकाल में 10 यूनिवर्सिटी देने का कार्य किया है। धनबाद के ही शिक्षा के प्रति समर्पित श्री बिनोद बिहारी महतो जी के नाम से यूनिवर्सिटी की स्थापना की गई। केंद्र सरकार के निर्देश पर कोयला से प्राप्त होने वाला 30% रॉयलिटी लोगों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने पर व्यय हो रहा है। लोगों को शुद्ध पेयजल प्राप्त हो, इस निमित 1 हजार करोड़ की राशि सरकार दे रही है। इस तरह केंद्र और राज्य सरकार झारखण्ड के सर्वांगीण विकास हेतु कृतसंकल्पित है।

“प्रधानमंत्री ने ccl की परियोजनाओं से प्रभावित लोगों को नियुक्ति पत्र प्रदान किया। नियुक्ति पत्र पाने वालों में ज्योति कुमारी, रितेश उरांव, बाबूराम मांझी, सुनील कुमार पासवान और आफताब आलम को सांकेतिक तौर पर नियुक्ति पत्र सौंपा।” 

वहीं, पर्यटन, कला संस्कृति, युवा कार्य एवं खेल मंत्री श्री अमर कुमार बाउरी ने अपने स्वागत संबोधन में कहा कि यह ऐतिहासिक पल है। प्रधानमंत्री जी ने सिंदरी का कारखाना पुनः प्रारम्भ कराकर किसानों के कल्याण व रोजगार सृजन के नव द्वार खोला है। कर्मशील प्रधानमंत्री जी को हृदय से धन्यवाद। इस अवसर पर माननीया राज्यपाल श्रीमती द्रौपदी मुर्मू , झारखंड के मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास, केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री अश्विनी कुमार चौबे, केंद्रीय ऊर्जा राज्यमंत्री श्री आरके सिंह, केंद्रीय राज्यमंत्री जनजातीय मामले श्री सुदर्शन भगत, झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री श्री रामचंद्र चंद्रवंशी, झारखण्ड सरकार के कला संस्कृति पर्यटन मंत्री श्री अमर कुमार बाउरी, सांसद श्री पीएन सिंह जी, झारखण्ड विधानमंडल के विधायक श्री फूलचंद मंडल,  मुख्य सचिव श्री सुधीर त्रिपाठी सहित बड़ी संख्या में राजनीतिक दलों के नेता सांसद विधायक अधिकारी उपस्थित थे।