मुख्यमंत्री ने सिमडेगा में 132/33 केवी ग्रिड सब स्टेशन का किया लोकार्पण

 

 

माननीय मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने बुधवार को कहा कि राज्य के पिछड़े जिलों को विकसित जिलों की श्रेणी में लाने के उद्देश्य से आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी 25 मई को झारखण्ड आ रहे हैं ताकि सिमडेगा, पाकुड़, गुमला, चाईबासा जैसे पिछड़े जिलों में विकास को गति दिया जा सके। प्रधानमंत्री ऐसे जिलों के उपायुक्त से बात कर इन जिलों में विकास की रूपरेखा तय करेंगे। मुख्यमंत्री ने ये बातें  सिमडेगा के बीरू में नवनिर्मित 132/33 केवी ग्रिड सब स्टेशन, 132 केवी मनोहरपुर, सिमडेगा संचरण एवं 132 केवी चाईबासा मनोहरपुर लाइन के लोकार्पण समारोह के दौरान की। मुख्यमंत्री ने विधिवत पूजा-अर्चना कर पावर सब स्टेशन का शुभारंभ किया।  

मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे जिलों में विकास योजनाओं को धरातल पर उतारने हेतु केंद्र सरकार 50 करोड़ की राशि उपलब्ध कराती है। उक्त राशि का प्रावधान बजट से अलग कर किया जाता है। यही नहीं, राज्य सरकार इस बात का ध्यान रख रही है कि जिलों के पिछड़े प्रखंड, पिछड़े पंचायत और पिछड़े गांव को प्राथमिकता दी जाए। इसके लिए केंद्र और राज्य सरकार कार्य कर रही है, क्योंकि सरकार का मानना है कि जब गांवों का विकास होगा, तभी देश और राज्य का वास्तविक विकास होगा।

“किसान, गरीब और शहर के छोटे दुकानदारों को राज्य सरकार बिजली में सब्सिडी देगी। राज्य में कोई भी चोरी की बिजली का उपयोग न करें। ईमानदारी से बिजली बिल का भुगतान करें। सरकार आपको सुविधा देगी।”

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज भी राज्य के 15 लाख से ज्यादा उपभोक्ता बिजली बिल का भुगतान नहीं करते हैं। यह परिपाटी ठीक नहीं है। अपने हिस्से की ईमानदारी का निर्वहन हम सब को करना चाहिए। जल्द अटल विद्युतीकरण और तिलका मांझी विद्युतीकरण योजना का धरातल पर उतारा जाएगा। किसान, घरेलू और उद्योग के बिजली उपयोग हेतु अलग-अलग फीडर बनाया जाएगा। 2018 तक हर घर तक बिजली पहुंचाने का लक्ष्य निर्धारित है, जिसपर कार्य हो रहा है। राज्य के 247 सुदूरवर्ती गांव तक सोलर के जरिए बिजली पहुंचा दी गई है, क्योंकि विकसित झारखण्ड का सपना बिजली के बिना संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि सुव्यवस्थित बिजली उपलब्ध कराने में यह स्टेशन कारगर साबित होगा। 

“आप सोच बदलें, गांव-शहर और राज्य की तस्वीर बदलते समय नहीं लगेगा। सरकार आपको हर संभव सहायता करने को तैयार है। गांव के समुचित विकास के लिए भारत सरकार ने आदिवासी विकास समिति और ग्राम विकास समिति का गठन किया है, जो ग्रामीणों के सहयोग से गांव की योजनाओं का निर्माण कर उसे स्वरूप प्रदान करेंगे।”  

मुख्यमंत्री ने कहा कि गांव में बसने वाले गरीबों को उनका हक और उनके काम की योजनाओं के लिए इन समितियों का गठन किया गया है। अब बारी आपकी है। अपने गांव का विकास आप स्वयं करें। आपके साथ आपकी सहमति से योजनाओं को अमलीजामा पहनाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि गांव के मुखिया इन समितियों को अपना भरपूर सहयोग दें और गांव व गरीब के आर्थिक उन्नयन और समृद्धि में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें।

श्री रघुवर दास ने कहा कि सिमडेगा की महिलाओं ने पूरे देश में जिला का नाम रोशन किया है। रानी मिस्त्री का दर्जा प्राप्त कर स्वच्छता अभियान को नई स्फूर्ति सिमडेगा में प्रदान की है। राज्य सरकार का यह प्रयास है कि 2 अक्टूबर 2018 तक हम स्वच्छ झारखंड का निर्माण करें। आजादी के बाद शौचालय, आवास,  स्वच्छता को लेकर किसी ने नहीं सोचा, लेकिन माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने इस ओर ध्यान दिया है और आज परिस्थितियां बदल रही हैं। हम सब भी प्रधानमंत्री जी के आह्वाहन को आंदोलन का रूप दें और स्वच्छ झारखंड की परिकल्पना को यथार्थ में बदलने हेतु सहयोग करें।

“मुख्यमंत्री ने सिमडेगा की रानी मिस्त्रियों को सम्मानित किया। वहीं, अप्रैल महीने में गोटियादामर में शादी समारोह में शामिल होकर बंगरु लौट रहे सड़क दुर्घटना में मारे गए लोगों के परिजनों को 1-1 लाख रुपए का चेक सौंपा। इस सड़क दुर्घटना में 9 लोगों की मौत हो गई थी।”
 

वहीं, सिमडेगा विधायक श्रीमती विमला प्रधान ने कहा कि मुख्यमंत्री के प्रयास से अब सिमडेगा रोशन होगा। सुव्यवस्थित बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित हुई। सिमडेगा समेत राज्य के लोग सौभाग्य योजना का लाभ लें। सरकार इस दिशा में पहले से कार्य कर रही है। महिला सशक्तिकरण और उनके स्वालंबन हेतु राज्य सरकार प्रयासरत है। सखी मंडल के माध्यम से महिलाओं को सम्मान और उनका स्वाभिमान दिया जा रहा है। स्वच्छता अभियान में भी सिमडेगा बेहतर कर रहा है,  और इस बेहतरी में महिलाओं की भागीदारी महत्वपूर्ण है। 

प्रधान सचिव, ऊर्जा श्री नितिन मदन कुलकर्णी ने कहा कि सब स्टेशन के निर्माण से पूर्व कामडारा से सिमडेगा में विद्युत आपूर्ति होती थी जिससे परेशानियों का सामना करना पड़ता था, लेकिन अब स्थितियों में बदलाव हुआ है। दीनदयाल विद्युतीकरण योजना के तहत 7 सब स्टेशन का निर्माण हो रहा है। जल्द बानो में भी सब स्टेशन का निर्माण होगा। सिमडेगा के 83 हजार घरों तक बिजली पहुंचा दी गई है। सौभाग्य योजना का लाभ ग्रामीण लें। योजना निःशुल्क है। कार्यक्रम में उपयुक्त सिमडेगा श्री जटा शंकर चौधरी, निदेशक ऊर्जा संचरण समेत अन्य लोग उपस्थित थे।