अब झारखण्ड के विकास में जापान करेगा सहयोग

 

झारखंड के दौरे पर आए जापान के काउंसिल ऑफ लोकल अथॉरिटी फॉर इंटरनेशनल रिलेशन (क्लेयर) और जापान एक्सटर्नल ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन (जेट्रो) के प्रतिनिधिमंडल ने राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ उन क्षेत्रों का दौरा किया, जहां बेहतर सहयोग की संभावना है। बता दें, माननीय मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास के जापान दौरे के बाद जापान की अग्रणी कम्पनियां झारखण्ड में निवेश करने पर तत्परता दिखा रही हैं। अब जापान झारखण्ड के विभिन्न क्षेत्रों के विकास के लिए सहयोग करेगा।

इस दौरान प्रतिनिधिमंडल को रांची नगर निगम के आयुक्त श्री शांतनु अग्रहरि ने प्रेजेंटेशन के माध्यम से निगम की रूपरेखा को दर्शाया। उन्होंने बताया कि जापानी विशेषज्ञ पब्लिक ट्रांसपोर्ट, सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट, शहरी योजना निर्माण आदि में सहयोग कर सकते हैं। नगर विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री अरूण कुमार सिंह ने सिस्टर सिटी कॉन्सेप्ट के तहत रांची, धनबाद, जमशेदपुर, देवघर और बोकारो को जोड़ने पर जोर दिया। क्लेयर के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर हाशिमोतो केनजिरो ने आश्वस्त किया कि वो झारखंड सरकार को तय क्षेत्रों के विकास में हर संभव सहयोग करेंगे।

वहीं, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ. सुनील कुमार वर्णवाल ने जापान की जरूरत के अनुसार जापानी भाषा का पाठ्यक्रम और नर्सिंग व तकनीकी के क्षेत्र में सहयोग पर बल दिया। उन्होंने ईंटखोरी को बुद्धा सर्किट से जोड़ कर उस क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा देने की बात कही। उच्च शिक्षा सचिव अजय कुमार सिंह ने बताया कि अगस्त 2018 से रांची विश्वविद्यालय में जापानी भाषा की पढ़ाई शुरू होने जा रही है। ऐसे में उन्होंने प्रतिनिधिमंडल से जापानी भाषा के शिक्षक उपलब्ध कराने और छात्रों को जापानी कंपनी में रोजगार देने की बात कही।

वहीं, जापानी प्रतिनिधिमंडल ने अधिकारियों को बताया हुए कहा कि जापानी भाषा जानने वाले भारतीय प्रोफेशनलों की जापान में काफी मांग है। इसके लिए वे लोग ऐसे लोगों के चयन के लिए रोजगार मेला भी आयोजित करते रहे हैं। बता दें, जापान मोमेंटम झारखंड ग्लोबल इन्वेस्टर समिट-2017 का पार्टनर देश है। इसी के मद्देनजर अक्टूबर 2017 में मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने जापान का दौरा किया था। उस दौरान विभिन्न क्षेत्रों में आपसी सहयोग के लिए पहल की थी। इसी के तहत सिस्टर सिटी कॉन्सेप्ट के जरिये जापान और झारखंड के शहरों के बीच संबंध कायम करने की भी पहल हुई थी। इसे लेकर दिसंबर 2017 में क्लेयर और जेट्रो के साथ दिल्ली में बैठक हुई थी। तब टेक्नोलॉजी ट्रांसफर, स्मार्ट म्युनसिपल गवर्नेंस, इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट, सांस्कृतिक के आदान-प्रदान, पर्यटन विकास और साइबर सिक्योरिटी जैसे क्षेत्रों में सहयोग पर सहमति बनी थी। इन्हीं मुद्दों को लेकर झारखंड सरकार के निमंत्रण पर क्लेयर और जेट्रो का प्रतिनिधमंडल रांची आया।

इस दौरान नगर विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री अरूण कुमार सिंह,  उच्च शिक्षा सचिव श्री अजय कुमार सिंह,  मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ. सुनील कुमार वर्णवाल, सूडा डायरेक्टर श्री राजेश कुमार शर्मा और रांची नगर निगम के आयुक्त श्री शांतनु अग्रहरि संग प्रतिनिधमंडल ने सहयोग के विभिन्न क्षेत्रों पर प्रकाश डाला। जापानी प्रतिनिधमंडल में हाशमोतो केनजिरो के अलावा जेट्रो के चीफ डायरेक्टर जनरल काजुया नाकाजो, सियाउ मिन यांग और ताकायुकी हिरोटा आदि शामिल थे।