खजूरी गांव से ग्राम स्वराज अभियान की शुरुआत

 

ग्राम स्वराज अभियान के तहत ‘स्वच्छ भारत दिवस’ पर मुख्यमंत्री ने गढ़वा के खजरी गांव से पूरे राज्य में स्वच्छ भारत मिशन के लक्ष्य को हासिल करने का आह्वान किया।

 मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के सपने को साकार करना है। स्वच्छ झारखण्ड का निर्माण करके ही स्वच्छ भारत के परिकल्पना को पूरा कर सकेंगे। राज्य सरकार इस मिशन को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध प्रयास कर रही है। हमसब संकल्प लें कि 02 अक्टूबर 2018 तक राज्य को खुले से शौचमुक्त (ओडीएफ) बनाएं और महात्मा गांधी के चरणों में स्वच्छ झारखण्ड समर्पित करें। जनभागीदारी के बल पर ही यह कार्य अबतक 75 प्रतिशत सफल हो पाया है। अक्टूबर तक शत प्रतिशत कार्य पूरा करना हमसबों का लक्ष्य होना चाहिए।

“ग्राम स्वराज अभियान के 05 मई 2018 के समाप्ति के अवसर तक अनुसूचित जाति बाहुल्य राज्य के चिन्हित 252 गांव में शत प्रतिशत लक्ष्य पूरा करें।”

उक्त बातें मुख्यमंत्री ने खजरी ग्राम जिला गढ़वा में ग्राम स्वराज अभियान के तहत स्वच्छ भारत दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही।
 मुख्यमंत्री ने जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि जनशक्ति ही सरकार की शक्ति है। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन कार्यक्रम को सफलता पूर्वक लागू करने में झारखण्ड प्रथम स्थान पर है। वर्ष 2020 तक राज्य के हर घर तक पाइप लाईन के माध्यम से शुद्ध पेयजल आपूर्ति करना सरकार की प्राथमिकता है। इस कार्य को पूरा करने के लिए क्रमबद्ध प्रयास किया जा रहा है। राज्य के सुदूरवर्ती एवं पहाड़ी क्षेत्रों में बसे गांवों में भी सरकार की सभी लोक कल्याणकारी योजनाओं को धरातल पर उतारना है।

“महिला स्वयं सहायता समूहों की बहनों द्वारा राज्य में बहुत ही अच्छा कार्य किया जा रहा है। शौचालय निर्माण कार्य में राज्य की महिलाओं ने मिसाल कायम किया है।”

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने खजूरी गांव के उरांव टोला में शौचालय का निरीक्षण भी किया। बढ़िया शौचालय बनाने के लिए ग्रामीणों को बधाई दी। इस मुहल्ले में 60 शौचालय बनाए गए हैं। उन्होंने कहा कि झारखण्ड में 75 प्रतिशत शौचालय निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि अटल पेंशन योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, उज्जवला योजना सहित सभी योजना का लाभ चयनित लाभुकों तक पहुंचाने हेतु राज्य सरकार प्रतिबद्ध है। सभी गरीब परिवार एवं सुदूर गांवों में रहने वाले अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति समुदाय के परिवारों को उज्जवला योजना के तहत एलपीजी गैस कनेक्शन एवं चुल्हा निःशुल्क उपलब्ध कराना है। प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी एवं ग्रामीण में अन्य राज्यों की तुलना में झारखण्ड ने काफी प्रगति की है। ग्रामीण क्षेत्रों के सामुदायिक स्वस्थ्य केन्द्रों एवं उप केन्द्रों में 24*7 डॉक्टर एवं नर्सों की तैनाती की जाएगी। इस कार्य के लिए राज्य सरकार द्वारा डॉक्टरों एवं नर्सों की नियुक्ति प्रक्रिया की शुरू हो चुकी है।

वर्ष 2022 तक समृद्धशाली झारखण्ड, स्वस्थ झारखण्ड एवं स्वच्छ झारखण्ड बनाना सरकार का लक्ष्य है। राज्य में कौशल विकास प्रशिक्षण से बेरोजगार युवक-युवतियों हुनरमंद बनाकर स्वरोजगार से जोड़ने का काम किया जा रहा है। राज्य के विभिन्न सेक्टरों में रोजगार का सृजन किया जा रहा है। युवाओं को घर-गांव में ही स्वरोजगार उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब गांव के लोग ही गांव के विकास की रूपरेखा तैयार करेंगे। सभी गांवों में ग्राम विकास समिति का गठन किया जा रहा है। गांव के विकास के लिए आवंटित राशि अब सीधे ग्राम विकास समिति को दिये जाएंगे। गांव के लोग डोभा, कुआं, तालाब, कृषि कार्य से संबंधित योजनाएं एवं अन्य छोटी-छोटी विकास के कार्यों का संचालन समिति के माध्यम से कर पायेंगे। ग्राम समिति के गठन होने से ग्रामीणों को बिचौलियों और दलालों से मुक्ति भी मिलेगी। ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य से संबंधित योजनाओं को भी लागू कराना सरकार की प्राथमिकता है।

ग्राम स्वराज अभियान के तहत स्वच्छ भारत दिवस पर मुख्यमंत्री ने गढ़वा के खजरी गांव से पूरे राज्य में स्वच्छ भारत मिशन के लक्ष्य को हासिल करने का आह्वान किया। मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने ग्राम स्वराज अभियान की शुरुआत करते हुए खुले में शौच से राज्य के हर गांव को मुक्त करने के उद्देश्य से लोगों को जागरूक करने की पहल की और शौचालय निर्माण में खुद श्रमदान किया। साथ ही जागरूक हो कर अपने घरों में शौचालय बनाने वाले ग्रामीणों को प्रोत्साहित भी किया।

 इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने 14.97 करोड़ की परिसम्पतियों का लाभूकों के बीच वितरण किया तथा 17.53 करोड़ रुपये की नई योजनाओं की आधारशिला रखी। मुख्यमंत्री ने महिला सहायता समूह पूजा गुलाब सरस्वती सूर्यमुखी को एक करोड़ राशि प्रदान की। स्वच्छ भारत मिशन के तहत ग्रामीण क्षेत्र में बेहतर कार्य करने वालों को मुख्यमंत्री ने पुरस्कृत भी किया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव सहित विशिष्ट अतिथियों ने स्वयं कुदाल चलाकर स्वच्छता अभियान में अपना योगदान दिया। साथ ही अमर शहीद ग्राम मदगड़ी में लघु ग्रामीण जलापूर्ति योजना का भी उद्घाटन मुख्यमंत्री ने किया।

मौके पर पलामू सांसद श्री बी.डी.राम, स्थानीय विधायक श्री सत्येन्द्र नाथ तिवारी, पेयजल स्वच्छता विभाग के केंद्रीय सचिव श्री परमेश्वरन अय्यर, मुख्य सचिव झारखण्ड श्री सुधीर त्रिपाठी, पेयजल एवं स्वच्छता सचिव श्रीमती अराधना पटनायक, प्रमंडलीय आयुक्त श्री राजीव अरूण एक्का, उपायुक्त गढ़वा श्रीमती नेहा अरोड़ा, पुलिस अधीक्षक श्री एम.अर्शी सहित कई वरीय अधिकारी एवं बड़ी संख्या में ग्रामीण जनसमूह उपस्थित थे।