झारखण्ड के लुटेरों को निगम चुनाव में सबक सिखाएं : रघुवर दास

 

झारखण्ड में होने वाले स्थानीय निकाय चुनाव के लिए चुनाव प्रचार करने पलामू के मेदिनीनगर पहुंचे मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। बूथ स्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कार्यकर्ताओं को उनकी ताकत समझाई। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस सम्मेलन में मैं मुख्यमंत्री या मुख्य अतिथि के तौर पर नहीं, बल्कि कार्यकर्ता के तौर पर आया हूं। सबकी अलग-अलग और अपनी-अपनी जिम्मेदारी है, लेकिन हम सभी भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता हैं। नगर निगम चुनाव के महत्व को समझाते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सभी जानते हैं कि नगर निगम, नगर पालिका या नगर परिषद या फिर नगर पंचायत हमारी स्वशासन और स्वराज के महत्वपूर्ण अंग है। देश में जो पार्लियामेंट है, उसे हम राष्ट्रीय पंचायत कह सकते हैं, दूसरा राज्य की पंचायत यानी विधानसभा और तीसरी पंचायत है, स्वशासन का सशक्त माध्यम ग्राम सभा, पंचायत या नगर निगम। केंद्र और राज्य सरकार की जनता के लिए जो योजनाएं हैं, उन्हें जमीन पर पहुंचाने का काम इस नगर निगम के माध्यम से होनी है।

“जिस प्रकार राष्ट्रीय पंचायत में आप सभी कार्यकर्ताओं की मेहनत और परिश्रम के कारण हमें जीत मिली, जिस तरह राज्य की सबसे बड़ी पंचायत विधानसभा चुनाव में हमारे उम्मीदवार को आपने जिताया, अब बारी है तीसरी सरकार यानि निगम चुनाव में बीजेपी के उम्मीदवार को जिताने की।”

मुख्यमंत्री ने विकास को लेकर अपनी सरकार की प्राथमिताएं बताते हुए कार्यकर्ताओं से कहा कि विकास को बहुत ज्यादा बताने की जरूरत नहीं है, ढिंढोरा पीटने की जरूरत नहीं है, क्योंकि विकास बोलता है विकास दिखता है। ना सिर्फ पलामू की जनता बल्कि पूरे राज्य की जनता पिछले 14 वर्षों से विकास की राह देख रही थी, लेकिन राजनीतिक अस्थिरता के कारण विकास नहीं हो पाया, लेकिन 2014 के विधानसभा चुनाव में आप सभी कार्यकर्ताओं की मेहनत के बूते 14 साल बाद राज्य की जनता ने एक स्थिर सरकार देने का काम किया। उन्होंने कहा कि अपने प्रत्याशी को भारी मतों से जिताएं, जिससे दूसरी पार्टियों के प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो जाए और वो विरोधी कभी चुनाव लड़ने की भी ना सोंचे।

“चुनाव जीतने के लिए रणनीति बनाएं। सबसे पहले बीजेपी कार्यकर्ता अपने परिवार के साथ जाकर वोट डालें। अगर सारे बीजेपी कैडर के समर्थक ही वोट डाल दें तो बीजेपी को चुनाव जीतने से कोई ताकत रोक नहीं सकती, क्योंकि इतनी बड़ी फौज किसी के पास नहीं है।”

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि झारखंड की जनता विकास चाहती है। समस्या का समाधान चाहती है। अगर आप जनता से मुलाकात कर उन्हें जागरूक करेंगे तो बीजेपी की जीत पक्की है। डोर टू डोर कैंपेन में बहुत ताकत है। इसका उदाहरण मैं खुद हूं। जब मैं पहली बार चुनाव लड़ा था तो कोई नहीं कहता था कि मैं चुनाव जीत पाऊंगा। डोर टू डोर कैंपेन करता था। नतीजा यह हुआ कि मुझ पर लोगों ने भरोसा किया और मैं जीत गया। लेकिन ये हमेशा याद रखिए कि अति आत्मविश्वास ना रखें, यह बहुत खतरनाक होता है। सिर्फ ईमानदारी से काम करें। जनता ने जिस आशा और आकांक्षाओं के साथ भारतीय जनता पार्टी को सेवा करने का मौका दिया तो हम उसी ईमानदारी से उन्हें बुनियादी सुविधाएं पहुंचाने का काम कर रहे हैं।

“हमारी सरकार पंडित दीनदयाल जी के अंत्योदय के सपने को पूरा करने के लिए काम कर रही है, ताकि न्यू इंडिया का सपना पूरा हो सके। आदरणीय प्रधानमंत्री जी ने भी देशवासियों से 2022 तक भारत को एक महान राष्ट्र बनाने का संकल्प लिया है।”

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने भारतीय जनता पार्टी और दूसरी पार्टियों के बीच के सैद्धांतिक अंतर को कार्यकर्ताओं को समझाया। उन्होंने कहा कि जनसंघ की स्थापना राष्ट्र के लिए हुई है। हमारा जन्म देश के लिए मर मिटने के लिए हुआ है, इसलिए जो राष्ट्र विरोधी शक्तियां भारत को खंडित करने का काम कर रही है, उससे हमें चौकन्ना रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा इस देश में, राज्य में, जो भी समस्याएं हैं यह सब कांग्रेस और झारखण्ड नामधारी पार्टियों की देन है। कांग्रेस और झारखण्ड नामधारी पार्टियों ने गरीबों के नाम पर सिर्फ और सिर्फ अपनी मतपेटी भरने का काम किया और गरीब को मौत पेटी में सुलाने का काम किया। इन पार्टियों की सच्चाई को जनता को बताने का काम आप कार्यकर्ताओं का ही है।

शहर में रहने वाले लोगों को हम मूलभूत नागरिक सुविधाएं देने के लिए काम कर रहे हैं। सड़क, पेयजल, LED लाइट, प्रधानमंत्री आवास योजना या शौचालय बनवाना। आप खुद हमारे इन कामों की समीक्षा कर सकते हैं। ये आपका अधिकार है।