2022 तक झारखण्ड से गरीबी का अंधेरा दूर होगा- रघुवर दास

 

मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने कहा कि इस वर्ष 2018 तक राज्य के 30 लाख घर तक रोशनी पहुंचाने का काम सरकार कर रही है। जो गांव पहाड़ों पर है, वहां सोलर के माध्यम से बिजली पहुंचाई जा रही है। बिजली के रहने से युवा पढ़ाई कर सकेंगे, कुटीर एवं लघु उद्योग को बढ़ावा मिलेगा। किसान बेहतर पैदावार कर सकेंगे। किसानों के लिए अलग-अलग फीडर से बिजली उपलब्ध करायी जा रही है। सरकार बनने के तीन वर्ष के अंदर चंदनकियारी (बोकारो) सहित राज्य के हर गांव में बिजली पहुंच गयी है। राज्य की जनता को 24×7 बिजली उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता है। ये बातें मुख्यमंत्री रघुवर दास ने चंदनकियारी में आयोजित स्व. पार्वती चरण महतो के जयन्ती के अवसर पर विकास मेला को संबोधित करते हुए कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार 2022 तक झारखण्ड को समृद्ध और स्वाबलंबी राज्य बनाने का संकल्प लिया है।

“प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी संकल्प से समृद्धि को प्राथमिकता दे रहे है। उनका सपना है कि हम सब मिलकर भारत को न्यू इन्डिया बनाए। राज्य सरकार गांव, गरीब और किसान के उत्थान के लिए कटिबद्ध है।”

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि देश का 40 प्रतिशत प्राकृतिक संसाधन झारखण्ड में है। मेहनती मानव संसाधन है। कोई कारण नहीं कि झारखण्ड विकसित राज्यों की श्रेणी में पीछे रहे। उन्होंने कहा कि गांव के विकास कार्य ग्रामीणों के द्वारा ही किया जाएगा, इसके लिए ग्राम विकास समिति का गठन किया जा रहा है। इस समिति के अध्यक्ष एवं सदस्य महिला, युवा एवं जनप्रतिनिधि ही होंगे। गांव के विकास की रणनीति ग्रामीण तय करेंगे। अप्रैल महीने से विकास की राशि सीधे समिति को दिये जाएंगे। गांव के विकास के लिए ग्रामीण अपना श्रम दान करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र के युवा को प्रशिक्षण देने का काम सरकार कर रही है। झारखण्ड की महिलाएं मेहनती है। कृषि, पशुपालन आदि के क्षेत्र में महिला आगे है। हर गांव में महिला सखी मंडल का निर्माण किया गया है।

“झारखण्ड को 5 वर्ष के अंदर पर्यटन राज्य के रूप में जाना जायेगा। रजरप्पा, देवघर सहित अन्य पर्यटन स्थल को विकसित किया जा रहा है।”

मुख्यमंत्री ने कहा बच्चों को स्कूल जरूर भेजें। शिक्षा से ही गरीबी दूर होगी। दो महीने के अंदर चंनदनकियारी के आवासीय विद्यालय को सरकारी मान्यता दी जायेगी। समाज बेटा और बेटी में फर्क न करें। सभी को पढ़ाई का हक है। बचपन में बेटी की शादी न करें। सरकार बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ को नारा न रहने दे इसे शक्ति के रूप में अपनाएं। प्रधानमंत्री ने कल मन की बात में झारखण्ड की महिलाओं की तारीफ की है।

“झारखण्ड में 15 लाख परिवारों को मुफ्त में चूल्हा और गैस देने का काम किया है। अब झारखण्ड में सभी गरीब आदिवासी, अनुसूचित जाति, पिछड़ा, अत्यंत पिछड़ा जाति को चूल्हा और गैस मुफ्त में दिया जायेगा। प्रधानमंत्री की सोच को झारखण्ड सरकार साकार कर रही है। जनता आगे बढ़े, सरकार साथ चलेगी।”

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने स्व. पार्वती चरण महतो की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। साथ ही कहा कि उनके सपनों का झारखण्ड बनाना हम सभी का कर्तव्य है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने विकास मेला में लगे स्टॉल आदि का परिभ्रमण भी किया।

मंत्री पर्यटन, कला, संस्कृति, खेल कूद, युवा एवं राजस्व निबंधन श्री अमर कुमार बाउरी ने कहा कि 2014 में जब मैं विधायक बना तब यह क्षेत्र पिछड़ा हुआ था। आज यहां के प्रत्येक गांव बिजली से आच्छादित हैं। राज्य सरकार ने गुणवत्तापूर्ण बिजली लोगों को उपलब्ध कराने का लक्ष्य निर्धारित किया है। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए स्व. पार्वती चरण महतो के पुत्र श्री प्रभाष महतो ने कहा कि स्व. पार्वती चरण महतो कुड़मालि लेखक थे। आज उनके आशीर्वाद से ही हम भी समाज सेवा से जुड़े हैं।

कार्यक्रम में बगोदर विधायक श्री नागेंद्र महतो, पूर्व विधायक श्री समरेश सिंह, जिला परिषद अध्यक्ष श्रीमती सुषमा देवी, बरमसिया प्रमुख एवं उपप्रमुख सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित रहे।