हर गरीब परिवार तक LPG कनेक्शन पहुंचाने का लक्ष्य- रघुवर दास

 

रांची में सोमवार को दो दिवसीय LPG कैटलिस्ट ऑफ सोशल चेंज-2 कॉन्फ्रेंस का शुभारंभ हुआ। मुख्यरमंत्री श्री रघुवर दास, केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री श्री धर्मेंद्र प्रधान और सांसद श्री जगदम्बिनका पाल ने संयुक्ता रूप से कार्यक्रम का उद्घाटन किया। इसमें LPG और उज्ज्वला योजना की यात्रा और उसके फायदों पर चर्चा की गई।

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि झारखंड सरकार राज्य के हर गरीब परिवार तक एलपीजी कनेक्शन पहुंचाने का लक्ष्य समय से पहले पूरा कर लेगी। वर्ष 2018 में 15-16 लाख गरीब परिवारों तक एलपीजी की सुविधा उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया है। साथ ही पहली रिफिल और चुल्हा भी दिया जायेगा। एलपीजी का कनेक्शन मिलने के साथ ही इन गरीबों की जिंदगी में भी व्यापक बदलाव आयेगा। पहले LPG गैस कनेक्शन से संपन्न परिवारों की पहचान होती थी, हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के प्रयासों से आज हर गरीब के घर एलपीजी गैस कनेक्शन पहुंच रहा है। प्रधानमंत्री जी ने सरकारी योजनाओं को लोगों के साथ जोड़कर जनभागीदारी बढ़ाते हुए कई समस्याओं का निदान किया है। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि सिर्फ LPG कनेक्शन ही नहीं, नमामि गंगे, बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ, स्वच्छ भारत मिशन जैसी तमाम योजनाएं है, जिनमें जन भागीदारी है। पहले महिलाएं शौच के लिए मानसिक तनाव से गुजरती थी, लेकिन प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने जन आंदोलन के माध्यम से पूरे देश में शौचालय बनवाने का काम किया है।

“प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने एलपीजी गैस कनेक्शन देकर करोड़ों गरीब, शोषित, वंचितों को धुएं की घुटन से राहत दिलाई। आजादी के बाद भी जिन्हें लकड़ी, उपलों से चूल्हा जलाना पड़ता था, कई तरह की बीमारियां भी झेलनी पड़ती थी। आज वो राहत महसूस कर रहे हैं।”

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की अपील पर आज 2.50 करोड़ लोगों ने सब्सिडी छोड़ दी है। उन्होंने कहा कि अगर हमें स्वामी विवेकानंद जी के सपनों का भारत बनाना है, अगर हमें 21वीं सदी का मजबूत भारत बनाना है तो संपन्न लोगों को भी सरकार के साथ चिंता करनी होगी। उन्होंने कहा कि झारखंड में कोयले की अधिकता है। यहां कोल मिथेन गैस उत्पादन की काफी संभावना है। पेट्रोलियम मंत्री श्री धर्मेंद्र प्रधान ने झारखंड में इसकी शुरुआत कर दी है। कोल मिथेन गैस के माध्यम से झारखंड पूरी दुनिया में अपनी अलग पहचान बना सकता है।

“गरीबी को दूर करने के लिए संपन्न लोग सब्सिडी छोड़ें और जो उसका असल हकदार उसे उसकी सुविधा मिले। झारखंड में 2014 से पहले केवल 25% लोगों के घरों में ही गैस कनेक्शन थे, पर पिछले तीन साल में इसमें जबरदस्त इजाफा हुआ है।”

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धमेन्द्र प्रधान ने कहा कि रांची, धनबाद, बोकारो, जमशेदपुर में हम गैस पाइप लाइन बिछाने जा रहे है, पाइपलाइन बिछने से सस्ती और सुरक्षित गैस घर-घर पहुंचने लगेगी।  सरकार के इस कदम से पूरे झारखंड को फायदा होगा। उन्होंने कहा कि रघुवर सरकार ने गरीबों तक उज्ज्वला योजना पहुंचाई।  

“मुख्यमंत्री रघुवर दास ने खुद गांव में जाकर महिलाओं को एलपीजी के फायदे बताये। मुख्यमंत्री जी खुद ही रुचि लेकर उज्ज्वला को घर-घर पहुंचा रहे है। जब से उज्ज्वला योजना की शुरुआत हुई है तब से ही झारखंड सरकार लगातार केंद्र सरकार के साथ कदम से कदम मिला कर चल रही है। दुमका में प्रधानमंत्री के कर कमलों से शुरु हुई योजना को आज पूरे झारखंड में पूरी सफलता से लागू किया गया।”

कार्यक्रम में सांसद श्री जगदंबिका पाल, श्री महेश पोद्दार, राज्य 20 सूत्री उपाध्यक्ष श्री राकेश प्रसाद, पेट्रोलियम मंत्रालय के संयुक्त सचिव श्री आशुतोष जिंदल, यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया के प्रोफेसर श्री केआर स्मिथ, हिन्दुस्तान पेट्रोलियम के सीएमडी श्री एमके सुराना, इंडिया ऑयल के चेयरमैन श्री संजीव सिंह, बीपीसीएल के निदेशक मार्केटिंग, आरडीआइ के सीइओ सुश्री मीता प्रियदर्शिनी, पर्यावरणविद डॉ. सुनीता नारायणन समेत बड़ी संख्या में गण्यमान्य लोग उपस्थित थे।