आदिवासी और पिछड़े वर्गों का उत्थान हमारा लक्ष्य: रघुवर दास

मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने आज रांची जिले के गेतलसूद (अनगड़ा) में आयोजित 40वें केंद्रीय श्रीरामकृष्ण किसान मेला में लोगों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि जब तक आदिवासी और पिछड़ों वर्गों का उत्थान नहीं होगा, तब तक भारत विश्वगुरु नहीं बन सकता। यही सोच हमारे प्रिय प्रधानमन्त्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की है।

श्री दास ने कहा कि खेती से 1/3 ही आमदनी हो पाती है। कृषकों की आय को दोगुना करने के लिए ही हमारी सरकार ने जोहार योजना का शुभारम्भ किया है जिससे उनको मुर्गी, मछली और गाय पालने में आसानी होगी जिससे वह अच्छी कमाई कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि झारखंड वनों का राज्य है यहाँ पर मधु बहुत होता हैI हमारी सरकार झार मधु पर जोर दे रही है जिससे उत्पादकों की आय बढाई जा सके। खेती में रोजगार के अवसर बहुत ज्यादा हैं राज्य सरकार उस पर ध्यान दे रही है।   

देश का लगभग 40 प्रतिषत लाह का उत्पादन झारखंड में ही होता है। लाह एवं तसर उद्योग के क्षेत्र में भी रोजगार के अवसर हैं। राज्य सरकार ने लाह बोर्ड का भी गठन किया है। राज्य सरकार द्वारा लघु उद्योग बोर्ड के माध्यम से किसानों द्वारा उत्पादित लाह को खरीदा जाएगा। झारखंड की माताएं-बहनें बहुत ही मेहनती और ईमानदार  हैं।

महिलाओं का सशक्तिकरण कर इन्हें राज्य की शक्ति नहीं बल्कि राष्ट्र की शक्ति बनाना है। राज्य सरकार ने महिलाओं को सशक्त एवं समृद्ध बनाने हेतु 50 लाख से नीचे की सम्पत्ति की रजिस्ट्री में मात्र एक रूपये फीस का प्रावधान रखा है। बेटियों के लिए तेजस्वनी योजना भी राज्य में प्रारंभ की गई है। 500 करोड़ के बजट वाली इस योजना के तहत बेटियों को प्रशिक्षित कर उन्हें वस्त्र उद्योग, तसर उद्योग, हेण्डीक्राफ्ट इत्यादि के क्षेत्र में रोजगार से जोड़ा जा रहा है।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2022 तक राज्य के सभी लोगों के चेहरे में मुस्कान लाना ही सरकार का लक्ष्य है।  2022 तक माननीय प्रधानमंत्री की यह परिकल्पना है कि देश के सभी किसानों की आमदनी को दोगुना किया जा सके । कृषि राज्य की आत्मा है। खेती से ही संस्कृति एवं परंपरा को संरक्षित रखा जा सकता है।कृषि राज्य की अर्थव्यवस्था का ठोस आधार भी है। रामकृष्ण मिशन आश्रम जैसे संस्थान कृषि के क्षेत्र में क्रांति ला रहे है । रामकृष्ण मिशन गांवों के समग्र विकास हेतु अपनी अहम भूमिका अदा कर रहा है। इस संस्थान के द्वारा किए जा रहे कार्य काफी प्रशंसनीय एवं सराहनीय हैं।

“झारखंड की महिलाएं जब तक आर्थिक रूप से सशक्त नहीं होंगी तब तक न्यू झारखंड का सपना अधूरा रहेगा,”- रघुवर दास  

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड में जो मधु का उत्पाद होता है उसको बेचने के लिए हमने बाबा रामदेव से बात की है। वो हमारा मधु खरीद लेंगे, जिससे हमारे लोगों को इधर उधर भटकना नहीं पड़ेगा। इससे घर बैठे ही आमदनी हो सकेगी। मुख्यमंत्री ने मेले में लगाये गये स्टालों का भी अवलोकन किया. कार्यक्रम में रामकृष्ण मिशन आश्रम के स्वामी भवेषानन्द महाराज ने संस्थान द्वारा किये जा रहे कार्यों पर भी प्रकाश डाला।

इस अवसर पर खिजरी विधायक श्री राम कुमार पाहन,  मुख्य सचिव श्रीमती राजबाला वर्मा,  ग्रामीण विकास विभाग के सचिव श्री अविनाश कुमार,  कृषि सचिव श्रीमती पूजा सिंघल,  रामकृष्ण मिशन आश्रम के अन्य स्वामी सहित बड़ी संख्या में किसान एवं ग्रामीण लोग उपस्थित थेॉ