अपना गांव अपना काम, यही है विकास का मंत्र-रघुवर दास

“बेहद खुशी की बात कि बालीजोर गांव नशामुक्त हो गया है। गांव के विकास के लिए राज्य सरकार एक लाख रुपये की राशि देगी।”  ये बातें मुख्यमंत्री रघुवर दास ने दुमका के बालीजोर गांव में लोगों से बातचीत के दौरान कहीं । मुख्यमंत्री रघुवर दास ने गांव के लोगों के साथ बैठकर उनसे गांव के विकास को बातचीत की । मुख्यमंत्री रघुवर दास ने लोगों से कहा कि रांची में बैठकर सरकार गांव की समस्याओं को नहीं सुलझा सकती, इसलिए आप अपने गांव के विकास का ब्लूप्रिंट खुद बनाइए,  और इसमें सरकार आपकी पूरी मदद करेगी । मुख्यमंत्री ने कहा कि योजनाओं को सही तरीके से लागू करने के लिए हमें जनसहयोग चाहिए। आप विकास समिति बनाइए हम सीधे आपको पैसा भेजेंगे।
“ये मंत्र याद कर लें, अपना गांव अपना काम, जो गांव नशामुक्त होगा उसके विकास के लिए एख लाख रुपए सरकार देगी।”
 

मुख्यमंत्री ने कहा कि नशा समाज के लिए कोढ़ के समान है, इससे हमें दूर रहिए । सरकार आपको गाय देगी, दूध का अधिक उत्पादन होगा तो दूध कंपनी आपसे दूध खरीदेगी । मुख्यमंत्री ने गांव के लोगों से कहा कि हमारी सरकार सरकारी स्कूल के 10 हजार बच्चों के आहार में दूध को शामिल करने जा रही है । बालीजोर गांव में ग्रामीण रबड़ की चप्पल बनाने का काम कर रहे हैं । जिसे देखकर मुख्यमंत्री खासे उत्साहित हुए ।
“मेरी बहनों ने स्वरोजगार को अपनाकर मिसाल पेश की है । सरकार आपकी आगे भी मदद करेगी, अब आप स्कूल के बच्चों के लिए जूते भी बनाइए। आपका रोजगार बढ़ेगा, तभी हमारा झारखण्ड समृद्ध होगा।”

मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर आप मधुमक्खी पालन करेंगे तो मार्केट हमारे पास है। आपको बाजार तलाशने के लिए कहीं जाने की जरूरत नहीं है । मुख्यमंत्री रघुवर दास ने लोगों से अपील की कि वो कम उम्र में अपनी बच्चियों की शादी ना करवाए, क्योंकि कम उम्र में शादी ही बीमारी, कुपोषण, शिशु मृत्यु दर की सबसे बड़ी वजह है । मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों से कहा कि तेजस्विनी और जोहार योजना से गांव वालों को जोड़ें, योजना बनाएं, सरकार से पूरी मदद मिलेगी । मुख्यमंत्री ने लोगों से कहा कि आप विकास में सरकार का साथ दीजिए और बहकावे में ना आएं । क्योंकि कुछ लोग आपको गुमराह करते हैं,आपकी जमीन कोई नहीं छीन रहा है। सरकार भूमिहीनों को पांच एकड़ जमीन देगी।