झारखण्ड सरकार का शिष्टमंडल जापानी कारोबारियों से मिला

 

मुख्य सचिव राजबाला वर्मा की अगुवाई में झारखण्ड सरकार के एक उच्च स्तरीय शिष्टमंडल ने जापान चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (JCCII) की मासिक बैठक में भाग लिया। इस बैठक का आयोजन नई दिल्ली स्थित जापानी दूतावास में किया गया था।

जेसीसीआईआई भारत में जापानी कंपनियों और जापानी सरकारी संस्थानों के कल्याण के लिए एक प्रमुख संगठन के रूप में काम कर रही है। 2006 में करीब 100 सदस्यीय कंपनियों के साथ शुरू होने के बाद से आज इस संस्था में  412 कंपनियों की सदस्यता  है। जेसीसीआईआई  मुख्य रूप से दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान में सक्रिय है।

बैठक में जापानी दूतावास से मिशन के उप प्रमुख श्री युटाका किकुटा और जापान  दूतावास के आर्थिक मंत्री  केनको सोने उपस्थित थे। जेसीसीआईआई का प्रतिनिधित्व अध्यक्ष श्री मसाहिरो नरकीयो, महासचिव जेसीसीआई श्री कजुहरू कोनो द्वारा किया गया था। बैठक में बड़ी संख्या में जेसीआईसीआईआई सदस्य कंपनियों के प्रतिनिधियों मौजूद थे।

उद्योग सचिव श्री सुनील कुमार वर्णवाल ने माननीय मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास की जापान यात्रा के बाद झारखंड और जापान के बीच स्थापित प्रगाढ़ सम्बंधों  को दोहराते हुए अपनी प्रस्तुति में झारखण्ड में निवेश के लाभों को समझाया।

मुख्य सचिव श्रीमती राजबाला वर्मा ने जेसीसीआई सदस्यों से झारखंड की यात्रा करने का आग्रह किया और बताया कि झारखण्ड एक  प्रगतिशील राज्य और एक आदर्श निवेश स्थल है। श्रीमती राजबाला वर्मा ने बताया, ”झारखण्ड पहले से ही 2 अंकों की विकास दर पर प्रगति कर रहा है, जो राज्य को भारतीय राज्यों में अग्रणी बना देता है। 

उन्होंने जोर देकर कहा कि राज्य सभी जगह आवश्यक आधारभूत संरचना  की पेशकश कर रहा है, जो जापानी कंपनियों के लिए काफी अनुकूल है। मुख्य सचिव श्रीमती राजबाला वर्मा ने मुख्यमंत्री की ओर से जापानी राजदूत केंजी हिरामात्सु से इटखोरी  का दौरा करने का निमंत्रण दिया और बताया कि  झारखण्ड सरकार बौद्ध धर्म पर  केंद्रित पर्यटन से सम्बंधित बुनियादी ढांचा विकसित करने की योजना बना रही है। ये निमंत्रण मिशन के उप प्रमुख श्री यूटाका किकुटा को सौंप दिया गया।

बैठक में सुमितोमो कॉरपोरेशन, ओरिक्स कॉर्पोरेशन, सोजित्ज कॉरपोरेशन, हिताची आदि समेत 160 से अधिक जापानी कंपनियों के वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया। कंपनियों ने झारखंड में अपनी गहरी रुचि व्यक्त की।

जेसीसीआई के प्रतिनिधियों ने मुख्य सचिव से इस बैठक में भाग लेने और जेसीसीसीआई को प्रस्तुतीकरण  देने के लिए धन्यवाद दिया। जेसीसीआई के प्रतिनिधियों ने कहा कि वे आश्वस्त करते हैं कि जेसीसीआई सदस्यों के एक प्रतिनिधिमंडल झारखंड का दौरा करेंगे, यह बैठक अत्यंत सफल रही और जापान और झारखंड के बीच संबंधों को और मजबूत करेगी।

बैठक में शहरी विकास एवं आवास विभाग के प्रधान सचिव श्री अरुण कुमार सिंह, उद्योग सचिव सुनील कुमार वर्णवाल, कृषि पशुपालन और सहकारिता सचिव श्रीमती पूजा सिंघल, जेसीसीआईआई निदेशक श्री के रवि कुमार ने इस बैठक में हिस्सा लिया।